Tuesday, March 26, 2013

छत्‍तीसगढ़ी होली गीत

छत्‍तीसगढ़ की माटी की महक फागुन के महीने कैसी होती है
मुंबई में अपनी प्रति‍भा का जादू बि‍खेरते अंचल के कलाकार
अर्नब चटर्जी 






6 comments:

SUNIL CHIPDE ,BILASPUR said...

VAAH VAAH

Kamal Dubey said...

गज़ब ढाये भैया मोर छत्तीसगढ़ के होली ... बहुत बढ़िया अर्नब।

ब्लॉ.ललित शर्मा said...

बहुत ही सुंदर होली गीत

सभी छत्तीसगढ वासियों को होली की हार्दिक शुभकामनाएं

ARNAB KUMAR Chatterjee said...

THANK YOU SUNIL JI, KAMAL JI, AND LALIT JI AND SANGYA JI :)

ARNAB KUMAR Chatterjee said...

This song is sung by Sunil Soni and Lyrics by Asu Bakshi from Chhattisgarh only.... JAI JOHAAR...

Anuj Shrivastava said...

Wah......Bahut Badhiya

Post a Comment