Monday, August 5, 2013

बैरागी चित्तौड़ - तीसरी कड़ी

सीजी रेडियो पर सुनिए राजस्थान के प्रसिद्ध लेखक "तन सिंह जी" की रचना "बैरागी चित्तौड़"। इसका धारावाहिक प्रसारण किया जा रहा है, इसे स्वर दिया है संज्ञा टंडन जी ने। 





प्रस्तुतकर्ता - ललित शर्मा 

4 comments:

sanjaysahu potiyakala said...

Badhai.

Ratan singh shekhawat said...

स्व.तनसिंह जी की लेखनी को शब्द देने के लिए संज्ञा टंडन जी का हार्दिक आभार

Vijay Singh Shekhawat said...

..बैरागी चित्तोड़ एक कालजयी रचना है ...ह्यदय कि तीक्षणता को लेखनी के रूप में उतार दिया पूज्य तन सिंह जी ने ....चित्तोड़ के पत्थर पुनः जीवित हो उठे ....आपके इस प्रयास के लिए आपका आभार .

manoharsingh rathore said...

बहुत खुबसूरत लेखनी को मिले अनुठे स्वर

Post a Comment